लाठी-गोली की भाषा बंद नहीं की तो आंदोलन से दिया जायेगा जवाब...


देवेंद्र शर्मा...
राजस्थान के डूंगरपुर जिले में स्थित कांकरी डूंगरी में कुछ दिन पूर्व आदिवासी समाज द्वारा शिक्षक भर्ती में आरक्षण लागू करने की मांग पर अराजकता का मामला सामने आया था और नौबत यह आ गई थी कि शहर में करीब 5 दिन तक इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई थी और इस मामले में लगभग 29 से ज्यादा केस दर्ज करते हुये करीब 249 लोगों को चिन्हित किया गया था.

बता दें कि डूंगरपुर उपद्रव के बाद आदिवासी समाज ने आज जयपुर स्थित पिंकसिटी प्रेसक्लब के सभागार में भर्तियों में आरक्षण की मांग को लेकर पत्रकार वार्ता का आयोजन किया. इस दौरान मीडिया से वार्ता के दौरान हिम्मत सिंह ने सरकार पर आदिवासियों पर दमन चक्र का आरोप लगाया.

उन्होंने भाजपा का हवाला देते हुये कहा कि भाजपा कह रही है कि आदिवासियों को नकसली करार दिया जाता है और एक तरफ कांग्रेस का शासन है जो आदिवासियों के खिलाफ अत्याचार कर रही है, रोज पुलिस की प्रताड़ना की जा रही है. ये सरकार इस प्रताड़ना को बंद करे और आदिवासी छात्रों की जो भर्ती की मांग है. उस मांग को पूरा किया जाये.

इस दौरान उन्होंने सरकार को चेतावनी देते हुये कहा कि यदि सरकार ने अपना दमनचक्र बंद नहीं किया और पुलिस की लाठी-गोली की भाषा बंद नहीं की तो आंदोलन के द्वारा इसका जवाब दिया जायेगा.

Comments